Education news

अरुणाचल प्रदेश सरकार ने शिक्षा विभाग को शिक्षण गुणवत्ता बढ़ाने के लिए एक कार्य योजना विकसित करने का निर्देश दिया है।

ईटानगर, नौ दिसंबर (भाषा) अरुणाचल प्रदेश सरकार ने गुरुवार को राज्य के शिक्षा विभाग को शिक्षण गुणवत्ता को बढ़ावा देने के लिए एक कार्य योजना विकसित करने का निर्देश दिया और उससे सीखने की प्रक्रिया को बढ़ाने के लिए प्रौद्योगिकी का लाभ उठाने का आग्रह किया।

मुख्य सचिव नरेश कुमार ने अरुणाचल प्रदेश में गुणवत्तापूर्ण शिक्षा के महत्व पर जोर दिया, जो नीति आयोग के एसडीजी इंडिया इंडेक्स और डैशबोर्ड 2020-21 रिपोर्ट में निम्न स्थान पर है।

एक आधिकारिक बयान के अनुसार, राज्य के शैक्षणिक संस्थानों में बुनियादी ढांचे के विकास की आवश्यकता को स्वीकार करते हुए, मुख्य सचिव ने कहा कि शिक्षा विभाग का प्राथमिक लक्ष्य उच्च गुणवत्ता वाले निर्देश देना होना चाहिए।

यह भी पढ़े: बीएड प्रवेश 2021: केरल विश्वविद्यालय में स्पॉट प्रवेश का दूसरा चरण 9 दिसंबर से शुरू होगा

कुमार ने विभाग को राज्य की शिक्षा प्रणाली में सुधार के तरीकों की जांच करने का निर्देश दिया।

उन्होंने कहा कि शैक्षिक प्रक्रिया में सुधार किया जाना चाहिए और विभाग को आधुनिक तकनीकों को लागू करने की सलाह दी जो छात्रों की रुचि और सीखने के बारे में जिज्ञासा को बढ़ाए।

उन्होंने नीति आयोग और केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय के संकेतकों के आधार पर शिक्षकों और छात्रों के लिए प्रदर्शन मूल्यांकन प्रणाली सहित कई उपायों का भी प्रस्ताव रखा।

उन्होंने उन्हें क्षेत्र के अंतराल का विश्लेषण करने और शिक्षण और सीखने के परिणामों में सुधार के लिए कार्य योजना विकसित करने का निर्देश दिया।

Education
Education

मुख्य सचिव ने शिक्षण की गुणवत्ता में सुधार के लिए कई प्रमुख बिंदुओं का सुझाव दिया, जिसमें सेवाकालीन शिक्षक प्रशिक्षण और शिक्षा के क्षेत्र में सबसे अच्छा प्रदर्शन करने वाले राज्यों का दौरा करना शामिल है।

बयान के अनुसार बैठक में शिक्षा आयुक्त निहारिका राय, शहरी विकास विशेष सचिव सचिन राणा और अन्य अधिकारी भी मौजूद थे.

यह भी पढ़े: बीएड प्रवेश 2021: केरल विश्वविद्यालय में स्पॉट प्रवेश का दूसरा चरण 9 दिसंबर से शुरू होगा

यह भी पढ़े: डी.एच.एस असम भर्ती 2018: 2720 ग्रेड-III, ग्रेड-IV पदों के लिए आवेदन करें; वेतन देखें

यह भी पढ़े: CBSE कक्षा 9वीं और 10वीं के लिए 2021-22 में Registration 15 दिसंबर से